DRDO क्या है , इसमें नौकरी कैसे मिलती है ?

DRDO Ki Taiyari Kaise Kare : DRDO (रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन ) भारत की एक संस्थान है जो रक्षा से जुड़े अनुसंधान के लिए कार्य करती है | यह भारतीय रक्षा मंत्रालय के अंतर्गत कार्य करती है , जो भारत की रक्षा प्रणाली के लिए अलग कार्य करती है |

यह भारत की तीनों सेनाओं के लिए कार्य करती है . इस संस्थान में रडार, प्रक्षेपास्त्र, रक्षा उपकरण ,इलेक्ट्रॉनिक आदि का कार्य किया जाता है |

डीआरडीओ क्या है ? ( DRDO kya hai in Hindi)

DRDO की फुल फॉर्म defence research and development organisation होती है. इसको हिंदी में रक्षा अनुसंधान एवं विकास संगठन कहते हैं | डीआरडीओ भारत गणराज्य की एक संस्था है जो सेना का शोध और विकास के लिए उत्तरदाई है |

डीआरडीओ का इतिहास ( History of DRDO in Hindi)

इसकी स्थापना सन 1958 में भारतीय सेना और रक्षा विज्ञान संस्थान के तकनीकी विभाग के रूप में की गई थी ।इस संगठन का मुख्य उद्देश्य आधुनिक किस्म की रक्षा प्रणाली और प्रौद्योगिकी का विकास करना है ।

डीआरडीओ की स्थापना के समय 10 प्रतिष्ठानों अथवा प्रयोगशाला वाला छोटा संगठन था । इसके बाद आगे की वर्षों में संगठन ने विविध विशेष शिक्षण ,अनेक प्रयोगशाला ,उपलब्धियों आदि में बहुत योगदान दिया ।

आज के समय में 5000 से ज्यादा वैज्ञानिक और लगभग 25000 से ज्यादा तकनीकी स्टाफ ही संगठन के संसाधन हैं ।

डीआरडीओ का मुख्यालय नई दिल्ली में है . इसके अध्यक्ष जी. सतीश रेड्डी है तथा महानिदेशक सेल्विन क्रिस्टोफर है ।

डीआरडीओ में नौकरी कैसे करें ( DRDO Mein Naukari kaise milati hai / DRDO Ki Taiyari Kaise Kare)

डीआरडीओ में नौकरी करना किसको अच्छा नहीं लगता . बहुत से विद्यार्थियों को डीआरडीओ में नौकरी करने का सपना होता है । DRDO में नौकरी करने के लिए उसमें आयोजित होने वाली भर्तियों में आपको पेपर देना होता है ।

इसके लिए आप GATE , SET , CEPTAM के पेपर देकर आप वैज्ञानिक बन सकते हैं |

1)GATE – जिस विद्यार्थी ने GATE पास कर रखी हो ,वो विद्यार्थी डीआरडीओ का पेपर दे सकता है । साइंटिस्ट ‘B’ की भर्ती के लिए उम्मीदवार को गेट और इंटरव्यू में प्राप्त अंकों के माध्यम से नौकरी दी जाती है |

2) SET – इस एग्जाम के लिए आपको दो चरणों मैं परीक्षा देनी पड़ती है . इसमें आपको पहले Written एक्जाम तथा बाद में इंटरव्यू देना होता है | यह एग्जाम 3 घंटे की होती है जिसमें 500 नंबरों के 150 ऑब्जेक्टिव टाइप क्वेश्चन पूछे जाते हैं |

सेक्शन A में BE, B.Tech, M.Sc सिलेबस के अनुसार कुल 400 अंकों में से 4 अंक के 100 प्रश्न होते हैं तथा section-b में 2 अंकों के 50 प्रश्न होते हैं जो कुल 100 अंक के होते हैं |

3) CEPTAM :- आप इस माध्यम से भी डीआरडीओ भर्ती के लिए आवेदन कर सकते हैं . इसमें भी दो एग्जाम होते हैं | टियर-1 के एग्जाम में आपको 150 प्रश्न पूछे जाते हैं इसके लिए आपको 2 घंटे का समय दिया जाता है | जो विद्यार्थी टियर-1 परीक्षा पास करता है, वह टियर -2 के लिए क्वालीफाई हो जाता है |

टियर -2 में आपको 100 नंबर के ऑब्जेक्टिव क्वेश्चन के लिए आपको 1 घंटे 30 मिनट का समय दिया जाता है ।

टियर-1 में सामान्य ज्ञान, सामान्य विज्ञान, करंट अफेयर्स ,गणित ,रिजनिंग ,तर्कशक्ति आदि प्रश्नों से प्रश्न आते हैं ।

टियर- 2 में आपके द्वारा चुने गए सब्जेक्ट में से प्रश्न आते हैं |

DRDO Education Qualification in Hindi ( DRDO में शिक्षा की योग्यता )

इस भर्ती के लिए आपको किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/ संस्थान से इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी में बैचलर डिग्री के साथ Science, Math, Psychology में कम से कम 60% अंकों के साथ मास्टर डिग्री होना अनिवार्य है ।

इस भर्ती के लिए आपकी उम्र कम से कम 18 से 28 वर्ष के बीच होनी चाहिए तथा आरक्षित वर्ग की आयु में छूट सरकार के निर्देशों के अनुसार होती है ।

DRDO परीक्षा की जानकारी के लिए आप उनकी ऑफिशियल वेबसाइट ( www.drdo.gov.in) पर भी जाकर देख सकते हैं |

यहां आपको DRDO Exam, Vacancy, Result, Salary, Exam Pattern, syllabus आदि की जानकारी मिल जाएगी |

अगर आप भी वैज्ञानिक बनना चाहते हैं तो पर दी गई जानकारी की मदद से आप DRDO की तैयारी कर सकते हैं | यदि फिर भी किसी विद्यार्थी को कोई समस्या हो तो वह कमेंट बॉक्स में पूछ सकता है …धन्यवाद !!

Leave a Reply